बंगाल चुनाव के बाद हिंसा कौन कर रहा है आखिर कौन है इन सब का दोषी

1. बंगाल में हिंसा, आखिर दोषी कौन

2. बड़ी संख्या में बंगाल से लोग पलायन कर रहे हैं आसाम में

3. ममता बनर्जी की शपथ लेने से पहले राज्यपाल ने दी नसीहत

बंगाल में हिंसा हो रही है चारों तरफ से मोदी को ही दोष दिया जा रहा है परंतु तुम्हारी औकात ही क्या है जो मोती जैसे महान व्यक्ति को इस प्रकार से दोष दे रहें हो, बंगाल में हिंसा क्या इससे पहले भी नहीं हो रही थी क्या जो इस बार भी हो रही है चुनाव के बाद वैसे तो ममता को कोई दोष देगा ही नहीं क्योंकि वह तो उसका हक है कि बंगाल में अगर किसी ने ममता बनर्जी को वोट नहीं दिया तो उसको तो बंगाल से भगा दीया जायेगा और बाद में यही ममता मीडिया के सामने आकर के कहेगी कि यह तो एक प्रकार का अफवाह है

ममता भले यह इन हिंसा को अफवाह बता रही है परंतु जितने भी वीडियो सोशल मीडिया पर दिखाई दे रहे हैं वह तो झूठ नहीं बोल रहे हैं या तो ममता दीदी सच बोल रही है या तो वहां की जनता जिस प्रकार से वीडियो बना बना कर के सोशल मीडिया पर बोल रहे है या वह झूठ बोल रहे है।

ममता बनर्जी मीडिया के सामने आकर कहती है कि बंगाल में हिंसा कराने की कोशिश की जा रही है अब ऐसी हिंसा तो पहले भी हो रही थी चुनाव से पहले तो फिर चुनाव के बाद भी इस प्रकार की हिंसा क्यों सामने आ रही है आप तो अभी मुख्यमंत्री फिर से बन गई है तो आपको तो यह इंसान रुकवानी चाहिए थीं और दूसरी बात यह है कि बंगाल के बहुत बड़ी संख्या में हिंदू आसाम में क्यों भाग रहे हैं।

परंतु इन सब में सबसे हैरानी की बात तब हो जाती है जब इस हिंसा पर मीडिया भी ममता का साथ देने लग जाती है और यहां तक कि जितने भी सोशल मीडिया पर वीडियो चल रहे हैं उनको आधार बनाकर के कोई भी मीडिया लोगों के सामने क्यों नहीं रख रही है और बाद में रात के प्राइमटाइम में इस प्रकार के चर्चा की जाएगी जिसमें कहा जाएगा कि ममता के सामने टिक नहीं पाए PM

ममता बनर्जी ने मीडिया के सामने आकर अपना पक्ष रखा की बंगाल में जो भी हिंसा हो रही है इसमें बीजेपी का हाथ है बीजेपी षड्यंत्र कर रही है बंगाल की सरकार को बदनाम करने के लिए, ममता बनर्जी का यहां तक कहना था कि जो भी पीड़ित है उनको मुआवजा दिया जाएगा।

परंतु ममता बनर्जी के इस बात पर भी सवाल उठना स्वाभाविक है कि आज ममता बनर्जी मीडिया के सामने आकर के मुआवजे की बात कर रही है परंतु ममता ने चुनाव के समय ही कहा था कि जो लोग टीएमसी की विरोध में है उनको देख लूंगी तो ममता बनर्जी की इस प्रकार की बातों पर कैसे विश्वास किया जा सकता है कि यह जो कुछ भी हिंसा हो रही है वहां बीजेपी कर रही है ऐसे तो सीधा शक तो ममता बनर्जी पर ही हो जाएगा ना

अरिहंत की ममता बनर्जी पर इस प्रकार के आरोपी लग रहे थे कि चुनाव में ममता बनर्जी के गुंडों ने बड़ी संख्या में धांधली की हुई थी जिसके कारण ममता बनर्जी को बड़ी जीत मिली है अब देखना होगा आगे बंगाल में क्या होता है आपकी इन सब पर क्या राय है आप कमेंट करके बताएं

Post a Comment

Previous Post Next Post