चालबाज चीन की एक और चाल Corona के बाद अब समुद्र को भी करेगा बर्बाद

Top India Bharat

चालबाज चीन की एक और चाल Corona के बाद अब समुद्र को भी करेगा बर्बाद, दक्षिण चीन सागर को "मानव मल" से कर रहा है गंदा, और बढ़ रहा है मछलियों के विलुप्त होने का खतरा

चीनी ने पूरी दुनिया पर करोना छोड़ कर के मुसीबत में डाल ही दिया है परंतु अब चीन ने एक और मुसीबत पैदा की है और वह दक्षिण चीन सागर में मानव मल को फेंक कर के एक और मुसीबत पैदा की है और उससे नुकसान समुद्र के अंदर रहनेवाली मछलियों से लेकर के मानव जीवन पर भी बुरा असर पड़ सकता है।

चीन के साउथ चाइना समुंदर से एक बेहद खतरनाक बात सामने आई है। आपको बता दे कि satellite image के माध्यम से चीन की सबसे घिनौनी सच्चाई सामने आई है। इन तस्वीरों से यह पता चला है कि चीन बहुत ही सालों से साउथ चाइना सी और पश्चिमी फिलीपींस सागर में कुछ हिस्सों में मानव मल फेंक रहा है। और साथ ही गंदा पानी भी फेंक रहा है। 

और यह मल इतना सारा है कि अंतरिक्ष से भी दिखाई दे रहा है क्योंकि इन तस्वीरों को सेटेलाइट से खींचा गया है और ऊपर से कुछ डॉट डॉट जैसे दिखाई देता है। यहां पर बड़ा सवाल है कि आखिर चीन ऐसा कर क्यों रहा है।

आपको बता दें कि एक सॉफ्टवेयर कंपनी "सिमुलैरिटी इंक" के संस्थापक "लीज डेर" ने दावा किया है कि सैटेलाइट तस्वीरों के माध्यम से उनको यह पता चला है कि चीन के बहुत सारे जहाज करीब बहुत सालों से मानव मल को दक्षिण चीन सागर यानी कि साउथ चाइना सी और पश्चिमी फिलीपींस सागर मैं इस मल को छोड़ रहा है। 

इनके अनुसार यह मल की मात्रा इतनी सारी है कि इसे अंतरिक्ष से भी देख सकते हैं। यह मल समुद्र के कोरल रिफ और अन्य मानव जीवन के लिए और मछलियों के लिए एक बहुत ही खतरनाक है। एक इंटरव्यू में कहते हुए लीज डेर ने बताया है कि 17 जून को दक्षिण चीन सागर में करीब 236 जहाजों को देखा गया है। 

उनका कहना है कि जब जहाज यहां पर नहीं चलते हैं। तब मानव मल का सारा ढेर यहां पर इकट्ठा हो जाता है। आपको बता दें कि चीन के सैकड़ों जहाज इन सारे कच्चे सीवेज को यानी कि गंदा पानी और मानव मल को इन जगहों पर रोजाना डंप कर रहा है। यहां पर चीन पहले से ही कब्जा कर चुका है। और यही कारण है कि पिछले कुछ 5 सालों से "कोरल रिफ" को बेहद ही नुकसान पहुंचा है। 

चीन की इस प्रकार की हरकतों के कारण इस पूरे इलाके में मछलियों की संख्या में भी गिरावट देखने को मिल रही है। इन सभी तर्क और सबूतों के जवाब में फिलीपींस के Foreign affairs Diplomat ने अपनी बात रखते हुए कहा है कि वह चीन से जवाब मांगने से पहले वे लीज डेर के सच्चाई के दावों का पता लगाएंगे 

आपको बता दें कि इससे पहले भी मार्च 2021 में फिलीपींस के रक्षा सचिव डेल्फिन लॉरेंस जाना ने दक्षिण चीन सागर से चीनी जहाजों को वापस ले जाने की मांग करी थी इन सारी बातों को देखने के पश्चात चीन के अधिकारियों ने इन सारी बातों को खंडन तो नहीं किया है परंतु चीन ने यहां पर कहा है कि उन्होंने हमेशा से ही दक्षिण चीन सागर में हमेशा से ही दक्षिण चीन समुद्री जनजीवन की सुरक्षा के लिए हमेशा से ही महत्त्वपूर्ण कदम उठाए है। 

इस खबर के आने के पश्चात पुरे सोशल मीडिया पर हड़कंप मचा हुआ है और लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि यह सब हो क्या रहा है। और यहां तक की लोग सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर चीन इतनी नीचता पर क्यों उतर आया है। 

यहां पर आपको बता दे कि दक्षिण चीन सागर के इन इलाकों को लेकर के भी कुछ देशों में भी विवाद चल रहा है ऐसा बताया जाता है कि यहापर गैस और तेल का भंडार छुपा हुआ है। और यही भंडार विवाद का कारण भी बना हुआ है। 

व्यापार को लेकर भी यहां इलाका बेहद ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह रास्ता हिंद महासागर से लेकर के अरब सागर तक जाता है। 

Post a Comment

Previous Post Next Post